Breaking News

Ankita Lokhande की बिल्डिंग में मिला कोरोना पॉजिटिव, अपार्टमेन्ट हुआ सील


 कोरोनावायरस का प्रकोप दिन पे दिन बढ़ता ही जा रहा है। इस खतरनाक वायरस से लड़ने के लिए भारत में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन जारी किया गया है लेकिन इसके बावजूद भी खबरें सामने आ रही हैं वो हैरान करने वाली भी है। मलाड अपार्टमेंट कॉम्प्लेक्स जिसमें बॉलीवुड एक्ट्रेस और मॉडल अंकिता लोखंडे अशिता धवन शैलेश गुलाबानी नताशा शर्मा आदित्य रेडिज और मिश्कात वर्मा जैसे कई लोकप्रिय चेहरें रहते हैं उसे सील कर दिया गया है क्योंकि इसमें एक कोरोना पॉजिटिव इंसान पाने की पुष्टि हुई है।




इस अपार्टमेंट में रहने वाले एक निवासी ने टीओआई से बातचीत के दौरान कहा है डी विंग में रहने वाला एक आदमी इस महीने की शुरुआत में स्पेन से लौटा था। एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान जब उसका टेस्ट हुआ तो नेगेटिव था लेकिन फिर भी उसे 15 दिनों के लिए सेल्फ क्वारंटाइन की सलाह दी गई थी। हालांकि 12वें दिन उसके अंदर कोरोनावायरस के लक्षण दिखाई दिए और उसे उसकी पत्नी के साथ अस्पताल ले जाया गया। जब उनका टेस्ट हुआ तो वो पॉजिटिव पाया गया लेकिन उनकी पत्नी की रिपोप्ट निगेटिव आई। जो भी इंसान उसके कांटेक्ट में आया है उन सभी का टेस्ट किया गया और अच्छी बात यह है कि सभी नेगेटिव आए हैं। यह 26 मार्च को हुआ था और तब से अब तक सोसाइटी बंद है। बिल्डिंग के बाहर पुलिस को यह सुनिश्चित करने के लिए तैनात किया गया है कि कोई भी सोसाइटी से बाहर ना आ पाए और ना ही कोई इसके अंदर जा पाए।



टीवी की जानी मानी एक्ट्रेस अशिता धवन ने इस खबर पर पक्की मुहर लगाते हुए कहा हां मेरे विंग में एक आदमी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है और इस समय उसे क्वारंटाइन में रखा गया है। मैं बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कारपोरेशन  और मुंबई पुलिस की प्रशंसा करती हूं। बीएमसी के अधिकारी बेहद मददगार रहे हैं। हाल ही में मेरी सास की दवाइयां खत्म हो गई थीं और पास के मेडिकल स्टोर में स्टॉक नहीं था। जिसके बाद बीएमसी के एक अधिकारी ने हर फ्लैट से दवाओं लिस्ट ली और उन दवाइयों को खरीदकर हम सभी की मदद की। बीएमसी इस समय सभी पर अपनी नजरें बनाए हुए हैं ताकि हम सभी सुरक्षित रहे। यह हम सभी के लिए कठिन समय है लेकिन हर किसी की सुरक्षा करने के लिए हमसे जो भी बनेगा हम करेंगे। हमें बाहर के लोगों से संपर्क नहीं रखने के लिए कहा गया है। इस वायरस से खुद को बचाए रखने के लिए हम सभी डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन्स को फॉलो कर रहे हैं।

No comments