Breaking News

रावण-वध पर छिड़े विवाद पर दूरदर्शन ने दी सफाई, कहा- ऐसा कोई भी सीन


टीवी सीरियल Ramayan को लेकर बीते कई दिनों से सोशल मीडिया पर विवाद छिड़ा हुआ है। ये विवाद रावण वध के बाद से ही शुरू हुआ है। रावण वध के बाद नाराज लोगों ने सोशल मीडिया पर काफी हंगामा मचाया था। इंटरनेट यूजर्स ने आरोप लगाए कि रामायण में रावण और राम के बीच हुए युद्ध के कई जरुरी सीन्स काट दिए गए है। इतना ही नहीं, इस टीवी सीरियल में अहिरावण को भी नहीं दिखाया गया है जब वो राम और लक्ष्मण को किडनैप कर पाताललोक ले जाता है। इसके अलावा हनुमान के बेटे मकरध्वज को भी नहीं दिखाया गया है। वहीं, रावण वध के बाद जब राम और लक्ष्मण अयोध्या पहुंचते हैं तो स्वागत के वक्त लक्ष्मण और सुमित्रा के इमोशन सीन्स नहीं दिखाए गए हैं। इन आरोपों के बाद आखिरकार प्रसार भारती की ओर से बयान जारी किया गया है। 




प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने इन विरोधों पर विराम लगाने के लिए एक ट्वीट कर इस बारे में बताया है। उन्होंने लिखा है, ‘डीडी नेशनल ने कोई भी कट नहीं लगाए है। बल्कि ये सभी सीन ऑरिजनल प्रोडक्शन का हिस्सा थे ही नहीं।’ हालांकि फैंस प्रसार भारती के सीईओ के इस जवाब से खुश नहीं थे और कहा कि आखिरकार ये सीन्स क्यों नहीं दिखाए गए हैं जबकि ये रामकथा में काफी जरुरी सीन रहे है। इस पर प्रसार भारती के सीईओ ने कहा है, ‘हमारे एतिहासिक ग्रंथों की खूबसूरती यही है कि इसमें कई कहानियां हैं, कई साइड स्टोरीज हैं लेकिन हम हर कहानी को एक टीवी स्क्रिप्ट में नहीं ले सकते है। हां, लेकिन ये कहानिया भविष्य के लिए रास्ता जरुर खोलती है।






बता दें कि कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच दूरदर्शन ने सबसे पहले अपने पुराने टीवी शोज को जारी करने का फैसला किया था। इसमें सबसे पहले टीवी सीरियल रामायण को दोबारा से प्रसारित करने का फैसला लिया गया था। ये फैसला चैनल के लिए काफी जबरदस्त रहा और रामायण ने रिकॉर्ड तोड़ टीआरपी हासिल की है। इसके अलावा दूरदर्शन पर प्रसारित हो रहे टीवी सीरियल महाभारत को भी दर्शक खूब पसंद कर रहे हैं और ये टीवी सीरियल जमकर टीआरपी हासिल कर रहा है।

No comments