Breaking News

लॉकडाउन में Sanjay Dutt को आई जेल की याद कहा, ‘मेरे पास कोई अपना...’

देश में चल रहा Coronavirus लॉकडाउन जहां लोगों को गंभीर बीमारी से बचाने के लिए जरुरी है तो वहीं, इससे कई तरह की मुश्किलें भी खड़ी हो रही है। कई सेलेब्स देश के बाहर फंसे हुए हैं तो कई लोग घरों में कैद जैसे-तैसे वक्त काट रहे हैं। इस लिस्ट में बॉलीवुड स्टार Sanjay Dutt का नाम भी शुमार है। संजय दत्त का परिवार कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते देश नहीं लौट पर रहा है और वो लोग इस वक्त दुबई में फंसे हुए है। इसी के चलते एक्टर इन दिनों अपने मुंबई स्थित घर में अकेले ही वक्त काट रहे है। इसीलिए ये दिन एक्टर को बेहद कचोट रहे हैं और उन्होंने इस लॉकडाउन की तुलना जेल में बिताए दिनों से कर दी है। 




एक्टर ने इस बारे में हाल ही में एक इंटरव्यू में बात करते हुए कहा, ‘जब वो जेल में थे तब उनके पास अपना कहने के लिए कोई नहीं था।' इसके आगे एक्टर ने कहा, ‘मैं कुछ सालों पहले इसी तरह के लॉकडाउन से गुजरा हूं। फर्क सिर्फ इतना है कि उस दौरान मैं अपने परिवार के साथ रोजाना बात नहीं कर सकता था लेकिन अब मैं किसी भी समय अपने परिवार से बात कर सकता हूं।' 

संजय दत्त को साल 1993 में हुए बम धमाके के संगीन मामले में कोर्ट ने दोषी पाया था। उन पर अवैध तरीके से हथियार अपने पास रखने का आरोप था। इसके बाद टाडा कोर्ट ने उनको पांच साल की सजा सुनाई थी। इस कठिन समय को याद करते हुए टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए अपने इंटरव्यू में Sanjay Dutt ने कहा, ‘एक अभिनेता के लिए लॉकडाउन बेहतर समय की तरह था। अपने बिजी शेड्यूल को दूर रखकर परिवार के साथ वक्त गुजारने का था। एक्टिंग से दूर कुछ फ्रेश महसूस होता। लेकिन जब लॉकडाउन का ऐलान हुआ उस समय मेरे बच्चे और पत्नी मान्यता दुबई में थे और वो वहीं फंस गए है।






कोरोना संकट के बीच मदद के लिए आगे आए संजय दत्त
भले ही संजय दत्त अपने परिवार से दूर हों लेकिन इसके बावजूद एक्टर अपने कर्तव्यों को अच्छे से निभा रहे है। इसीलिए कोरोना संकट के बीच संजय दत्त ने भी आगे बढकर आम लोगों की मदद के लिए हाथ बढ़ाए है। अभिनेता ने करीब 1000 परिवार की भोजन संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के वादा किया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए हाल ही में संजय दत्त ने बताया, ‘मुझसे जितना हो पाएगा लोगों की मदद करने की कोशिश करूंगा।‘

No comments