Breaking News

Chris Hemsworth और Randeep Hudda का शानदार एक्शन देख


हिन्दी भाषी दर्शकों के लिए एक्शन फिल्मों का मतलब सलमान खान, अक्षय कुमार या फिर अजय देवगन की फिल्म होता है क्योंकि 90 के दशक से लेकर अब तक इन सितारों ने अपने दर्शकों को एक से बढ़कर एक एक्शन फिल्में दी हैं। इन कलाकारों की एक्शन फिल्मों का सिलसिला भविष्य में भी जारी रहेगा लेकिन कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच रिलीज हुई नेटफिलिक्स की एक्सट्रैक्शन (Extraction) इन कलाकारों के फैंस के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है। एक्सट्रैक्शन एक हॉलीवुड फिल्म है लेकिन इसको देखते हुए दर्शकों के देसी फील आएगी। यही एक्सट्रैक्शन (Extraction) की सबसे बड़ी खासियत है। 




फिल्म की कहानी
फिल्म एक्सट्रैक्शन (Extraction) की कहानी भारत के ड्रग माफिया ओवी महाजन सीनियर (पंकज त्रिपाठी) और बांग्लादेश के ड्रग माफिया आमिर आसिफ (प्रियांशु पेनयुली) के बीच चल रही रंजिश को दर्शकों के सामने पेश करती है। बांग्लादेश का ड्रग माफिया आमिर अपने साम्राज्य को बढ़ाने के लिए भारत के ड्रग माफिया ओवी महाजन सीनियर के बेटे ओवी जूनियर (रुद्राक्ष जायसवाल) को उठवा लेता है। इसे बचाने के लिए ओवी सीनियर का खास आदमी साजू (रणदीप हुड्डा) कुछ ऐसे लोगों को हायर करता है जो ऐसे मामलों में किडनैप हुए लोगों को छुड़वाते हैं। ये लोग ओवी जूनियर को बचाने के लिए टेलर रेक (क्रिस हेम्सवर्थ) को बांग्लादेश भेजते हैं। अब टेलर रेक ओवी जूनियर को बांग्लादेश के ड्रग माफिया आमिर आसिफ से कैसे बचाता है, यही एक्सट्रैक्शन की कहानी है। 



फिल्म की खास बातें
फिल्म एक्सट्रैक्शन (Extraction) की सबसे खास बात इसके कलाकार हैं, जो अपने-अपने किरदारों में एकदम फिट बैठते हैं। आप फिल्म की कास्टिंग पर एक बार भी सवाल नहीं उठा सकते हैं। क्रिस हेम्सवर्थ (Chris Hemsworth) अपने किरदार को इतनी ईमानदारी से निभाते हैं कि आप यह भूल जाएंगे कि इसी कलाकार ने थॉर जैसा किरदार निभाया है। Randeep Hudda एक्स्ट्रैक्शन के सरप्राइज पैकेज हैं, जिन्होंने साजू के किरदार में जान फूंक दी है। रणदीप हुड्डा को बॉलीवुड का दमदार कलाकार माना जाता है और एक्सट्रैक्शन में उन्होंने यह साबित भी किया है। उन्हें एक्सट्रैक्शन में क्रिस हेम्सवर्थ के बराबर स्क्रीनस्पेस मिला है और आप उनसे नजरें नहीं हटा पाएंगे।

प्रियांशु पेनयुली को दर्शकों ने भावेश जोशी में देखा था लेकिन एक्सट्रैक्शन में उनकी लाजवाब अदाकारी देखने के बाद दर्शक उन्हें भूल नहीं पाएंगे। बांग्लादेशी ड्रग माफिया आमिर के किरदार में उन्होंने जबरदस्त सीन्स दिए हैं, जो फिल्म के स्तर को बढ़ा देते हैं। इन तीनों कलाकारों के अलावा रुद्राक्ष जायसवाल और पंकज त्रिपाठी भी प्रभावित करते हैं।



अगर फिल्म के तकनीकी पहलुओं पर बात करें तो इसका शानदार कैमरा वर्क और सटीक एडिटिंग आपको हिलने का मौका नहीं देती है। डायरेक्टर सैम हरग्रेव ने फिल्म एक्ट्रैक्शन में कुछ चेज सीक्वेंस तो इतने शानदार गढ़े हैं कि आप उन्हें रिवाइंड करके जरूर देखेंगे।





फिल्म की नकारात्मक बातें
एक्सट्रैक्शन एक मसाला एक्शन फिल्म है, जिसका स्क्रीनप्ले बहुत ही कसा हुआ है। यह आपको हिलने का मौका नहीं देती है लेकिन कई बार आप इसके किरदारों की बैक स्टोरी थोड़ी और जानना चाहते हैं। इसके साथ-साथ फास्ट पेस से चलने वाली एक्सट्रैक्शन बीच में थोड़ी से धीमी होती दिखती है, जिसे एडिटिंग के माध्यम से सुधारा जा सकता था।

आखिरी फैसला
अगर आप लम्बे समय से एक अच्छी एक्शन फिल्म का इंतजार कर रहे थे तो एक्सट्रैक्शन कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच आपकी बोरियत दूर कर सकती है। कलाकारों की दमदार अदाकारी के साथ-साथ बेहतरीन कोरियोग्राफ्ड एक्शन सीन्स आपको कई बार चौंकाएंगे। हम अपनी ओर से एक्सट्रैक्शन सो 3.5 स्टार देते हैं।


No comments