Breaking News

Movie Review : Sadak 2 Movie में संजय दत्त और जीशू सेनगुप्ता ने रखी फिल्म की लाज



Movie Review : Sadak 2 Movie में संजय दत्त और जीशू सेनगुप्ता ने रखी फिल्म की लाज


आलिया भट्ट, आदित्य रॉय कपूर और संजय दत्त स्टारर महेश भट्ट के निर्देशन में बनी फिल्म सड़क 2 आखिरकार रिलीज हो गई है। 1991 में महेश भट्ट के ही निर्देशन में बनी फिल्म सड़क के इस सीक्वल का जब ऐलान हुआ तो लोग खुशी से झूमने लगे थे। संजय दत्त और पूजा भट्ट की फिल्म सड़क ब्लॉकबस्टर रही थी। इस फिल्म को दर्शकों से भरपूर प्यार मिला था। ऐसे में लोग इस फिल्म के सीक्वल से भी काफी उम्मीदें लगाए बैठे थे। तो क्या ये उम्मीदें पूरी हुई। आइए जानते हैं-

Also Read - Radhika Madan ने अपने करियर के पहले शॉट के लिए 'गर्भनिरोधक गोली' लेने का खुलासा किया

क्या है कहानी?
फिल्म की कहानी एक लड़की आर्या (आलिया भट्ट) की है। जो एक फर्जी बाबा गुरूजी (मकरंद देशपांडे) का पर्दाफाश करने की कोशिश में है। जो उसे लगता है कि उसकी मां की मौत के लिए जिम्मेदार है। तो वहीं, रवि (संजय दत्त) एक टैक्सी ड्राइवर है अपनी पत्नी की मौत के बाद खुद भी मरना चाहता है और उसके पास पहुंचना चाहता है। आर्या की मुलाकात रवि से होती है और दोनों एक सफर के लिए निकलते हैं। यहां आर्या के साथ उसका बॉयफ्रेंड विशाल (आदित्य रॉय कपूर) भी कैलाश के लिए निकलते हैं।

Also Read - SSR की दोस्त स्मिता पारिख ने रिया चक्रवर्ती को लेकर किया दावा, कहा सुशांत की हत्या.....



क्या है खास?
फिल्म में संजय दत्त और जीशू सेनगुप्ता ने कमाल का काम किया है। खासतौर पर जीशू सेनगुप्ता ने जो पूरी फिल्म में हर सीन पर राज करते हुए दिखते हैं। आलिया भट्ट भी ठीकठाक हैं लेकिन फिल्म की लाइमलाइट संजय दत्त और जीशू सेनगुप्ता ले गए है। आदित्य रॉय कपूर की एक्टिंग के बारे में कुछ न ही कहा जाए तो बेहतर होगा। फिल्म का बैंकग्राउंड स्कोर भी अच्छा है। फिल्म ने संगीत के मोर्चे पर भी ठीकठाक काम किया है। फिल्म के कुछ-कुछ सीन्स कमाल बन पड़े हैं। लेकिन बस इतना ही ।

Also Read - रिया चक्रवर्ती के पड़ोसी ने किया खुलासा, मां करती है जादू-टोना...'



कहां रह गई कमी?
फिल्म की शुरुआत इतनी खराब होती है कि बस शुरुआत से ही ये दर्शकों का ध्यान फिल्म से हटाने लगती है। फिल्म सड़क में महारानी का किरदार सदाशिव अमरापुर ने निभाया था और उनकी खूब वाहवाही हुई थी। ये किरदार इस फिल्म की जान था। लेकिन सड़क 2 में, गुरूजी का किरदार बेहद हास्यापद सा दिखता है। जो मकरंद देशपांडे ने निभाया है। फिल्म में आर्या का बॉयफ्रेंड विशाल अपने साथ पिंजरे में तोते को साथ रखता है। अब इस फिल्म में हैरी पॉर्टर का ये कनेक्शन हमारी समझ के तो परे हैं। क्योंकि ये कहानी में कुछ ऐड नहीं करता है। फिल्म का फोकस फर्जी बाबाओं के बारे में लोगों को चेताना और फादरहुड का मतलब समझाना है। लेकिन दोनों ही बातों को फिल्म सही से कह नहीं पाती। ये फिल्म महेश भट्ट के सबसे कमजोर निर्देशन की बानगी पेश करती है। 


No comments